26 C
Bhopal
Saturday, May 8, 2021
No menu items!
Home BUSINESS आखिर लॉकडाउन के दौरान किसने प्राप्त किया 52 करोड़ का टर्नओवर

आखिर लॉकडाउन के दौरान किसने प्राप्त किया 52 करोड़ का टर्नओवर

नईदिल्ली: कोविड-19 लॉकडाउन के कारण खरीद और लोजिस्टिक्स बाधाओं के बावजूद प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केन्द्र– पीएमबीजेकेए के द्वारा अप्रैल, 2020 में रिकॉर्ड 52 करोड़ रुपये का बिक्री टर्नओवर प्राप्त किया गया। मार्च 2020 में कुल विक्री 42 करोड़ रुपये और अप्रैल 2019 में 17 करोड़ रुपये थी।

कोविड-19 महामारी के कारण पूरा देश गंभीर चुनौती का सामना कर रहा है। दवाओं और चिकित्सा उपकरणों की मांग बहुत अधिक है।इस मांग को पूरा करने के लिए जन औषधि केन्द्रों ने लोगों को अप्रैल 2020 के दौरान रिकॉर्ड 52करोड़ रुपये मूल्य की सस्ती और गुणवत्तापूर्ण दवाओं की आपूर्ति की। इससे आम लोगों को लगभग 300 करोड़ रुपये की बचत हुई क्योंकि जन औषधि केन्द्र की दवाएं, औसत बाजार मूल्य की तुलना में 50 से 90 प्रतिशत तक सस्ती हैं।

केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री श्री डीवी सदानंद गौड़ा और केंद्रीय रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री श्री मनसुख मंडाविया ने रिकॉर्ड बिक्री टर्नओवर प्राप्त करने और देश की जरूरत के वक़्त विपरीत परिस्थितियों में भी बिना रुके व बिना थके काम करने के लिए जन औषधि केन्द्र के संचालकों को बधाई दी है।

श्री गौड़ा ने यह सुनिश्चित किया है कि प्रधान मंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना (पीएमबीजेपी) के माध्यम से, उनका मंत्रालय देश के लोगों को किफायती दवाओं की निर्बाध उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध रहे।

भारत सरकार कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में, पीएमबीजेपी जैसी उल्लेखनीय योजनाओं के माध्यम से स्वास्थ्य प्रणाली में क्रांतिकारी बदलाव ला रही है, जो 900 से अधिक गुणवत्ता वाली जेनेरिक– दवाओं और 154 सर्जिकल उपकरणों का विकल्प दे रहा है। ये दवाएं और उपकरण देश के प्रत्येक नागरिक के लिए किफायती कीमतों पर उपलब्ध हैं।

ब्यूरो ऑफ फार्मा पीएसयू ऑफ इंडिया (बीपीपीआई) के सीईओ श्री सचिन कुमार सिंह ने कहा है कि बीपीपीएल ने‘जन औषधि सुगम मोबाइल ऐप’ विकसित किया है ताकि लोगों को अपने नजदीकी जनऔषधि केंद्रों का पता लगाने में मदद मिल सके और उन्हें किफायती कीमत पर जेनेरिक दवाएं उपलब्ध हों। लगभग 325000 लोग इस ऐप का उपयोग कर रहे हैं। इस ऐप के माध्यम से लोग उपयोगकर्ता – अनुकूल विभिन्न विकल्पों का लाभ उठा सकते हैं, जैसे जनऔषधि केंद्र तक पहुँचने का लिए गूगल मैप का उपयोग करना, जेनेरिक दवाओं के बारे में जानकारी प्राप्त करना, एमआरपी और कुल बचत के आधार पर जेनेरिक और ब्रांडेड दवाओं की तुलना व विश्लेषण करना आदि। यह ऐप एंड्राइड और आई – फ़ोन, दोनों ही प्लेटफार्म पर उपलब्ध है।

वर्तमान में, देश के 726 जिलों को कवर करते हुए 6300 से अधिक पीएमजेकेए कार्य कर रहे हैं। लॉकडाउन अवधि में पीएमबीजेपी अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर सूचनात्मक पोस्ट के माध्यम से लोगों में जागरूकता पैदा कर रही है ताकि उन्हें कोरोना वायरस से बचाव में मदद मिल सके।

Most Popular

जनजातीय भारत आदि महोत्सव में रीना ढाका और रुमा देवी के...

0
दिल्ली: दिल्ली हाट में आयोजित आदि महोत्सव में देश की समृद्धि जनजातीय संस्कृति की झलक लेने के लिए बड़ी संख्या में लोग...

कोविड-19 टीकाकरण और आत्मनिर्भर भारत पर राज्य व्यापी जागरूकता अभियान का...

0
पुणे: केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावडेकर ने आज पुणे में कोविड-19 टीकाकरण और आत्मनिर्भर भारत पर मोबाइल जागरूकता अभियान...

महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग में मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन

0
महाराष्ट्र: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने महाराष्ट्र के सिंधुदुर्ग में एक मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन किया। इस अवसर पर श्री अमित...